सुभाष चन्द्र कुशवाहा की पुस्तक ‘चौरी चौरा’ पर हितेन्द्र पटेल की समीक्षा

भारतीय इतिहास में चौरी चौरा की घटना एक ऐतिहासिक प्रस्थान बिन्दु की तरह है। इसी घटना के बाद गाँधी जी अपना पहला महत्वपूर्ण आन्दोलन जिसे हम ‘असहयोग आन्दोलन’ के नाम से भी जानते हैं, स्थगित कर दिया था। गाँधी जी के इस निर्णय की देश भर में कटु आलोचना हुई और देश में क्रांतिकारी आन्दोलन […]