अजय कुमार पाण्डेय के कविता संग्रह ‘यही दुनिया है पर शशिभूषण मिश्र द्वारा लिखी गयी समीक्षा

अजय पाण्डेय युवा कवि अजय कुमार पाण्डेय कुछ उन कवियों में से हैं जो चुपचाप अपना काम करने में विश्वास करते हैं। वे कविता के साथ-साथ जीवन में भी ईमानदारी बरते जाने के पक्षधर हैं। इसीलिए उनकी कविताओं में सघनता और तरलता है। इन कविताओं में जो पैनापन है वह हमारा ध्यान अनायास ही अपनी […]

सत्यनारायण पटेल के उपन्यास ‘गाँव भीतर गाँव’ की शशिभूषण मिश्र द्वारा की गयी समीक्षा ‘विकास का राजनीतिक समाजशास्त्र और हाशिए का समाज’

सत्य नारायण पटेल सत्यनारायण पटेल का उपन्यास ‘गाँव भीतर गाँव’ अपने कहन और शिल्प के लिए इधर काफी चर्चा में रहा है। इस उपन्यास की एक समीक्षा लिखी है युवा आलोचक शशि भूषन मिश्र ने। आइए आज पढ़ते हैं सत्यनारायण पटेल के उपन्यास ‘गाँव भीतर गाँव’ की शशिभूषण मिश्र द्वारा की गयी समीक्षा ‘विकास का […]