विमलेश त्रिपाठी के उपन्यास “कैनवास पर प्रेम” पर वैभव मणि त्रिपाठी की समीक्षा।

कवि एवं कहानीकार विमलेश त्रिपाठी का भारतीय ज्ञानपीठ से “कैनवास पर प्रेम” नामक उपन्यास प्रकाशित हुआ है। इस उपन्यास की एक बेबाक समीक्षा लिखी है वैभव मणि त्रिपाठी ने। आईए पढ़ते हैं यह समीक्षा।       एक सुन्दर कोलाज सरीखी रचना कैनवास पर प्रेम वैभव मणि त्रिपाठी  एक कुशल नट अपने खेल में हर […]