विजय गौड़ की कहानी – ‘मासिक प्रीमियम’.

विजय गौड़ विजय गौड़ कवि और आलोचक होने के साथ-साथ एक बेहतर कहानीकार भी हैं. अपनी नयी कहानी ‘मासिक प्रीमियम’ में विजय ने मदान दम्पत्ति के माध्यम से आज के बाजारवादी समय की उन चालाकियों को उभारने का सफल प्रयास किया है, जो अपनों को भी उस जाल में फांसने से नहीं चूकती. जिसमें अपने […]

विजय गौड़ के उपन्यास “भेटकी” का एक अंश:

सुपरिचित युवा कवि-कथाकार विजय गौड़ इन दिनों कोलकाता में कार्यरत हैं। कुछ ही दिनों में विजय को कोलकाता इतना रास आने लगा है कि अब वह उनकी रचनाओं में उतरने लगा है।   ‘भेटकी’ बंगाल की पृष्ठभूमि पर लिखा जा रहा उनका नया उपन्यास है। हमारे आग्रह पर विजय गौड़ ने इस उपन्यास का एक […]