अस्मुरारी नंदन मिश्र

(अस्मुरारी नंदन मिश्र) ‘वाचन–पुनर्वाचन‘  के अंतर्गत  इस बार  के हमारे कवि है अस्मुरारी नंदन मिश्र। इनकी कविताओं पर टिप्पणी की है हिन्दी और मैथिली के चर्चित युवा कवि अरुणाभ सौरभ ने। अभी हाल ही में अरुणाभ सौरभ को मैथिली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया है। पहली बार परिवार की तरफ से अरुणाभ को ढेर सारी बधाईयाँ।    अस्मुरारी की शिक्षा अव्यवस्थित तरीके […]

अशोक कुमार पाण्डेय

मित्रों, पहली बार पर हमने ‘वाचन-पुनर्वाचन’ नाम से एक स्तम्भ शुरू किया था जिसमें एक कवि अपने समकालीन दूसरे कवि की कविताओं पर टिप्पणी करता है. इस श्रृंखला में आज की कड़ी में हमारे कवि हैं अशोक कुमार पाण्डेय. इनकी कविताओं पर आलोचनात्मक टिप्पणी की है चर्चित कवि और हमारे प्रिय मित्र अजेय ने.   […]