रेखा चमोली की कविताएँ

प्रेम मानवीय दुनिया की सबसे अनूठी अनुभूति है. प्रेम हमें बराबरी के धरातल पर खड़ा कर देता है. वहाँ न तो किसी किस्म की अहमन्यता होती है न ही किसी तरह का संशय. प्रेम का धरातल विश्वास से ही तैयार होता है. रेखा चमोली के यहाँ प्रेम का अर्थ विस्तीर्ण है जिसमें पूरी मानवता के […]

रेखा चमोली की कविताएँ

रेखा चमोली एक सजग कवियित्री हैं. सहज भाषा में वे अपने आस-पास की घटनाओं को कविता में ढाल लेती हैं. उनके पास विषयों की कमी नहीं है.  छोटी-छोटी चीजें, आसपास की चीजें और परिवेश उन्हें आकृष्ट करते हैं और वे सहज रूप से उनकी कविता में आ जाते हैं.  और यही रेखा की विशिष्टता है. […]

रेखा चमोली

रेखा चमोली रेखा चमोली का जन्म 8 नवम्बर, 1979 उत्तराखण्ड के कर्णप्रयाग में हुआ। रेखा ने प्राथमिक से ले कर उच्चशिक्षा उत्तरकाशी में ही ग्रहण की। इसके बाद इन्होंने बी. एस-सी. एवम एम. ए. किया। वागर्थ, बया, नया ज्ञानोदय, कथन, कृतिओर, समकालीन सूत्र, सर्वनाम,  उत्तरा,  लोकगंगा आदि साहित्यिक पत्र-पत्रिकाओं में कविताएं प्रकाशित। साथ ही राज्य स्तरीय […]