प्रख्यात कथाकार दूधनाथ सिंह से रणविजय सिंह सत्यकेतु की बातचीत

दूध नाथ सिंह का नाम हिन्दी कहानी में अग्रगण्य है। कहानी के साथ-साथ दूधनाथ जी ने आलोचना और कविता के क्षेत्र में भी अत्यन्त महत्वपूर्ण कार्य किये हैं। इस बात से सभी परिचित हैं कि दूध नाथ जी लेखन के क्षेत्र में आज भी प्रतिबद्धता के साथ सक्रिय हैं। दूध नाथ जी से अभी पिछले […]

रणविजय सिंह सत्यकेतु की सात कविताएं

सत्यकेतु का नाम हिंदी के युवा कथाकारों में सुपरिचित नाम है। हाल ही में पता चला कि सत्यकेतु ने कुछ बेहतरीन कवितायें भी लिखीं हैं। मैंने सत्यकेतु से कविताओं के लिए आग्रह किया। इन कविताओं के जरिये पता चलता है कि इस कहानीकार के मानस में एक कवि पैठा हुआ है जो इसकी कहानियों को […]

रणविजय सिंह सत्यकेतु

रणविजय सिंह सत्यकेतु हमारे समय के चर्चित कहानीकार हैं।  सत्यकेतु का एक कहानी संग्रह ‘अकथ’ भारतीय ज्ञानपीठ से प्रकाशित हो चुका है। इनकी कहानियों में हम वह देख सकते हैं जिसके बारे में हम आम तौर पर कल्पित तक नहीं कर पाते। अपनी सूक्ष्म दृष्टि से ऐसे छोटे-छोटे विषयों को  कहानी में ढाल कर सत्यकेतु […]