मनोरंजन कुमार तिवारी की कविताएँ

मनोरंजन कुमार तिवारी स्त्रियों के प्रति पुरुषों की तमाम बनी-बनायी अवधारणायें प्राचीन समय से ही चली आ रही हैं. इसी बिना पर वह उस स्त्री को नैतिक मान बैठता है जो उसके प्रतिमानों पर खरा उतरती हैं, जब कि उस स्त्री को  अनैतिक, कुलटा और न जाने क्या-क्या उपाधियाँ देने लगता है जो उसके प्रतिमानों […]