अल्पना मिश्र से कल्पना पन्त की एक बातचीत

अल्पना मिश्र युवा आलोचक कल्पना पन्त के साथ अल्पना मिश्र से कल्पना पन्त की एक बातचीत अल्पना मिश्र का उपन्यास ‘अन्हियारे तलछट में चमका’  इन दिनों काफी चर्चा में है। इस उपन्यास पर अल्पना को वर्ष 2014का प्रेमचंद स्मृति कथा सम्मान भी प्रदान किया गया है। इस उपन्यास को भाषा के अलग अनूठे अंदाज और […]

विजय मोहन सिंह से अमरेन्द्र कुमार शर्मा की एक ख़ास बातचीत

विजय मोहन सिंह बहुमुखी प्रतिभा वाले विजय मोहन सिंह का अभी हाल ही में गुजरात में निधन हो गया। वे एक कहानीकार के साथ-साथ उपन्यासकार, बेहतर आलोचक, उम्दा सम्पादक और फिल्म संगीत के अच्छे जानकार थे। वे अपनी तरह के अनूठे आलोचक थे जिन्होंने बनी बनायी लीक से इतर अपनी अवधारणाएँ विकसित की और उसे […]

भरत प्रसाद की सुरेश सेन निशान्त से बातचीत

सुरेश सेन निशान्त कविता के क्षेत्र में आज अनेक महत्वपूर्ण कवि सक्रिय हैं। सुरेश सेन निशांत ऐसे ही कवि हैं जो सुदूर हिमाचल के पर्वतीय अंचल में रहते हुए भी लगातार सृजनरत हैं। उनकी कविताएँ चोंचलेबाजी से दूर उस सामान्य जन की कविताएँ हैं जो लगातार हाशिये पर रहा है। निशान्त में उस हाशिये को […]

युवा कवि केशव तिवारी से महेश चन्द्र पुनेठा की बातचीत

लोक और जनपदीय कविता के प्रमुख हस्ताक्षर केशव तिवारी से अभी हाल ही के दिनों में एक बातचीत की युवा कवि महेश चन्द्र पुनेठा ने। इस बातचीत के प्रसंग में कई महत्वपूर्ण बातें उभर कर सामने आयीं हैं। इन्हें जानने के लिए आइये पढ़ते हैं यह बातचीत। युवा कवि केशव तिवारी मेरे उन गिने-चुने मित्रों […]

चन्द्रकान्त देवताले से मनोज पाण्डेय की बातचीत

चन्द्रकान्त देवताले ऐसे कवि हैं जिनका व्यक्तित्व निर्विवाद है। वे ठेठ कवि ही हैं। खुद भी वे अपने को पूरावक्ती कवि मानते हैं। एक ऐसा कवि जो पूरी निर्भीकता से उनके साथ खड़ा है जिनके साथ कोई खड़ा नहीं। आज जब स्त्रियों के प्रति हमारा समाज असहिष्णु और हिंसक दिखाई पड़ रहा है वैसे में […]

वरिष्ठ कवि–आलोचक शैलेन्द्र चौहान से युवा कवि नित्यानंद गायेन की बातचीत

वरिष्ठ कवि और आलोचक शैलेन्द्र चौहान सितम्बर 2012 में हैदराबाद पधारे हुए थे। हमारे युवा मित्र कवि नित्यानंद गायेन ने इस मौके पर उनसे एक लंबी बातचीत की जिसे हम पहली बार के पाठकों के लिए प्रस्तुत कर रहे हैं।इस बातचीत को हमने अलाव के नवम्बर-दिसम्बर 2012 अंक से साभार लिया है। वरिष्ठ कवि–आलोचक शैलेन्द्र […]