बसन्त त्रिपाठी

जन संस्कृति मंच, दुर्ग-भिलाई द्वारा  30 जून 2013 को आयोजित बुद्धिलाल पाल के कविता संग्रह राजा की दुनिया पर आयोजित चर्चा-गोष्ठी में बसंत त्रिपाठी द्वारा दिए गए वक्तव्य का लिखित संशोधित रूप पहली बार के पाठकों के लिए प्रस्तुत किया जा रहा है।      मित्रों, बुद्धिलाल पाल के नए संग्रह ‘राजा की दुनिया’ पर एक […]