बजरंग बिहारी तिवारी ‘बजरू’ की अवधी कविताएँ

बजरू बजरंग बिहारी तिवारी ने आलोचना खासकर दलित विमर्श के क्षेत्र में जो काम किया है वह अपने आप में अलहदा और विशिष्ट है। लेकिन इसके अलावा भी उनकी एक पहचान है जिससे कम लोग ही परिचित होंगे। बजरंग बिहारी ‘बजरू’ उपनाम से ठेठ अवधी में कविताएँ भी लिखते हैं। वे उत्तर प्रदेश के गोंडा […]