नील कमल की कविताएँ

नील कमल दुनिया के महान वैज्ञानिकों में से एक न्यूटन से उनके जीवन काल के उतरार्द्ध में जब किसी ने कहा कि आप तो दुनिया के सबसे ज्ञानी व्यक्ति हैं तो न्यूटन का विनम्रतापूर्ण जवाब था – ‘ज्ञान का महासागर इतना बड़ा है कि मैं उस तरफ गया तो जरुर, लेकिन उसके किनारे बिखरी शंख-सीपियों […]

नील कमल

जन्म–१५.०८.१९६८ (वाराणसी, उत्तर प्रदेश) शिक्षा– गोरखपुर विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर। सम्प्रति– पश्चिम बंगाल सरकार के एक विभाग में कार्यरत। कविता संग्रह– “हाथ सुंदर लगते हैं” २०१० में कलानिधि प्रकाशन, लखनऊ से प्रकाशित एवम चर्चित। कविताएँ व लेख मत्वपूर्ण साहित्यिक पत्रिकाओं में प्रकाशित (प्रगतिशील वसुधा, माध्यम, वागर्थ, कृति ओर, सेतु, समकालीन सृजन, सृजन संवाद, पाठ, इन्द्रप्रस्थ भारती, […]