नीलाम्बुज सिंह की गज़लें

नीलाम्बुज सिंह · मेरा नाम नीलाम्बुज है. बचपन में पहला उपन्यास ही चित्रलेखा पढ़ा और कविता पढ़ी कुकुरमुत्ता . यहीं  से साहित्य के कीटाणु लग गए.  ·  डी. यू. से नजीर अकबराबादी की कविताओं  पर एम फिल कर चुकने के बाद  जे. एन. यू. के भारतीय भाषा केंद्र से ‘सामासिक संस्कृति और आज़ादी के बाद की हिंदी […]

नीलाम्बुज सिंह की कविताएँ

नीलाम्बुज सिंह बचपन में ही पहला उपन्यास ‘चित्रलेखा’ पढ़ा और कविता पढ़ी ‘कुकुरमुत्ता’. यहीं से साहित्य के कीटाणु लग गए. डी. यू. से नजीर अकबराबादी की कविताओं  पर एम फिल कर चुकने के बाद जे. एन. यू. के भारतीय भाषा केंद्र से ‘सामासिक संस्कृति और आज़ादी के बाद की हिंदी कविता‘ पर पी–एच. डी. कर […]