निलय उपाध्याय का यात्रा संस्मरण ‘हरिद्वार : गंगा का सबसे पुराना बाजार है’

कवि निलय उपाध्याय पिछले वर्ष गंगा यात्रा पर थे। गंगोत्री से गंगासागर की यह पूरी यात्रा उन्होंने सायकिल से पूरी की। निलय उपाध्याय ने इस यात्रा को अब शब्दों में ढालना शुरू किया है। अनहद-5 में हरिद्वार के संदर्भ में लिखा गया उनका यह संमरण पाठकों के बीच काफी सराहा जा रहा है। इस संस्मरण […]