अमरकान्त जी से धनञ्जय चोपड़ा की एक बातचीत

अमरकान्त : …..वे जो  हमेशा अपने समय का सच रचते रहे  17 फरवरी 2014 को प्रख्यात कथाकार अमरकान्त जी नहीं रहे. यह हम सबके लिए एक बड़ा आघात है. उनके न रहने से हम इलाहाबादवासियों ने अपना अभिभावक खो दिया. एक ऐसा अभिभावक जो महान होते हुए भी इतना सरल और सहज था कि उससे […]