एकान्त श्रीवास्तव के उपन्यास ‘पानी भीतर फूल.’ पर जीतेन्द्र कुमार की समीक्षा

एकान्त श्रीवास्तव मूलतः कवि हैं. अभी हाल ही में उनका एक नया उपन्यास आया है ‘पानी भीतर फूल.’ इस उपन्यास की पृष्ठभूमि में छतीसगढ़ का ग्रामीण जीवन है जिसके साक्षी एकान्त खुद हैं. वे मूलतः उसी अंचल के रहने वाले हैं इसीलिए वहाँ के जीवन, प्रकृति और समस्याओं से भलीभांति अवगत हैं. एकान्त की अपने […]