अमीरचंद वैश्य

  बुद्धिलाल पाल हमारे समय के सजग कवि हैं। लोक से जुडी हुई इनकी कवितायें हमें अपनी तरफ अनायास ही आकृष्ट करती है। अभी हाल ही में इनका एक कविता संग्रह ‘राजा की दुनिया‘ आया है। वरिष्ठ आलोचक अमीर चन्द्र वैश्य ने इस संग्रह पर पत्र शैली में एक समीक्षा लिखी है जिसे हम पहली […]