अपर्णा अनेकवर्णा की कविताएँ

अपर्णा अनेकवर्णा सुनने में अपरिचित सा नाम भले ही लगे लेकिन इनकी कविताएँ पढ़ते हुए कहीं भी आभास नहीं होता कि ये किसी नवोदित की रचनाएँ हैं. दरअसल अपर्णा अनेकवर्णा ‘जीवन राग’ की कवियित्री हैं जो ‘जीवंत सम्भावनाओं की तलाश जारी रखे हुए’ हैं. और साहित्य की ये महती जिम्मेदारी भी तो है. तो आईए […]