गौरव पाण्डेय की कविताएँ

गौरव पाण्डेय मानव जीवन में रिश्तों का बहुत महत्व है. रिश्तों के अहसास की वजह से ही आदिमता को छोड़ कर हम मनुष्य बने. सभ्यता की राह में यह मनुष्य का एक बड़ा कदम था. निश्चित रूप से भाई-बहन का रिश्ता उन कुछ रिश्तों में प्रबल और प्रगाढ़ रिश्ता है जो आजीवन और अटूट बना […]

विजेंद्र की कविता पर हुई एक गोष्ठी की रपट

हाल ही में “कवि  विजेंद्र की  कविता और  आज  के समय में  कविता की जरुरत ” विषय  पर  लखनऊ  में  एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस गोष्ठी की एक रपट हमें भेजी है अशोक चन्द्र ने। प्रस्तुति आशीष सिंह की है। तो आइए पढ़ते हैं इस गोष्ठी  की यह रपट” विजेन्द्र  की  सतत  अग्रगामी […]

संदीप मील की कहानी ‘बाकी मसले’

संदीप मील जिस राजनीति का काम जनता की सेवा करना था वह राजनीति जनता को मूर्ख बना कर अपना स्वार्थ साधने का काम करने लगी। जनता का ध्यान बंटाने के लिए ही हमारे राजनीतिज्ञ सीमा पार के खतरे की बात प्रायः ही किया करते हैं। सीमा पर हम दोनों मुल्कों के सैकड़ों सैनिक प्रति वर्ष […]

रेणु मिश्रा की कविताएँ

रेणु मिश्रा  नाम- रेणु मिश्राजन्मतिथि- 18 दिसंबर, 1979जन्मस्थली- वाराणसी, उत्तर-प्रदेशकर्मस्थली- अनपरा, सोनभद्र, उ.प्रशिक्षा – परास्नातक (दर्शनशास्त्र), बीएचयू, वाराणसी, परास्नातक (जन-संपर्क व् पत्रकारिता) एसएमयू, मणिपाल लेखन विधा- कहानी, कविता, ब्लॉग लेखनकृतियाँ – ‘विरहगीतिका’, ‘धूप के रंग‘ साझा काव्य संग्रह। विभिन्न साहित्यिक पत्रिकाओं व दैनिक समाचारपत्रों (दैनिक जागरण, बिंदिया, कादंबिनी, आउटलुक, कथाक्रम इत्यादि) में समय समय पर कवितायें […]

प्रकाश का आलेख ‘प्रेम और मृत्यु (-कविता) में क्या होता है?

किसी युवा कवि का गद्य पढना उस प्रकृति से मिलना होता है जो सहज ही हमें अपनी तरफ आकर्षित कर लेती है। युवा कवियों में इस समय प्रकाश बेहतर काम कर रहे हैं। इधर उन्होंने एक आलेख लिखा है ‘प्रेम और मृत्यु (-कविता) में क्या होता है।’ इसमें भी आपको काव्य का एक निरन्तर प्रवाह […]

अशोक भौमिक का आलेख ‘वर्त्तमान सांस्कृतिक चुनौतियाँ और हस्तक्षेप की जरूरत सन्दर्भ : समकालीन भारतीय चित्रकला’

अशोक भौमिक चित्रकला के क्षेत्र में काम करने वाले अग्रणी लोगों में अशोक भौमिक का नाम प्रमुख है। चित्रों के माध्यम से समय, समाज और सत्ता के चेहरे को पहचानने की एक अनूठी कोशिश कर रहे हैं अशोक दा। अशोक दा ने वर्तमान सांस्कृतिक चुनौतियों के क्रम में हस्तक्षेप की जरुरत को समकालीन भारतीय चित्रकला […]

प्रदीप शुक्ला की अवधी कविताएँ

प्रदीप शुक्ल परिचय – नाम – डॉ. प्रदीप शुक्ल जन्म – 29 जून, 1967 को उत्तर प्रदेश के लखनऊ जिले के छोटे से गांव भौकापुर में एक गरीब किसान परिवार में. शिक्षा – प्रारम्भिक शिक्षा गांव में ही, बी.एससी. कान्यकुब्ज कॉलेज, लखनऊ. एम. बी. बी. एस., एम. डी. (स्वर्ण पदक) – किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज, […]

जितेन्द्र कुमार सिंह (जे. के. सिंह) की कविताएँ

  जे के सिंह नाम – जितेन्द्र कुमार सिंह (जे0 के 0 सिंह)  जन्मतिथि 15 /9/1946स्थायी पता -ग्राम सोनबरसा, पोस्ट- मेंहदावल जिला संतकबीर नगर (उ. प्र.)वर्तमान पता – मुकाम – बङा महादेवा, पोस्ट – पीरनगर जिला गाजीपुर (उ. प्र.)सम्प्रति -पी. जी. कॉलेज गाजीपुर के समाजशास्त्र विभाग के रीडर पद से सेवानिवृत‘सृजन सन्दर्भ’ आदि पत्र-पत्रिकाओं में लेख […]

विजेन्द्र जी की किताब ‘आधी रात के रंग’ पर रश्मि भारद्वाज की समीक्षा

विजेन्द्र जी पाब्लो पिकासो ने कभी कहा था कि ‘कुछ पेंटर सूरज को एक पीले धब्बे में बदल देते हैं जबकि अन्य पेंटर एक पीले धब्बे को सूरज में।’ यानी कला जितनी आसान दिखती है वह अपने में उतनी ही मुश्किल होती है। लेकिन कवि जो वस्तुतः एक कलाकार ही होता है इस मर्म को […]

पूनम तिवारी की कहानी ‘उम्मीद की छांव’

पूनम तिवारी नाम – पूनम तिवारी प्रकाशन- वक्त का तकाजा (उपन्यास), निभाई वफा से (उपन्यास), खुशबू हरसिंगार की (उपन्यास), रिश्तों की नदी (कहानी संग्रह), कभी मोम कभी बर्फ सी पिघलती है जिन्दगी (कहानी संग्रह)  पत्र-पत्रिकाओं में कहानी और कविताएँ एवं ज्वलन्त विषयों पर लेख प्रकाशित। दूरदर्शन, आकाशवाणी, ज्ञानवाणी से वार्ता, कहानी, कविता एवं ड्रामा प्रसारित. सम्प्रति – […]